भावनगर में हादसा: तालाब में डूबने से दो सगे भाइयों समेत चार बच्चों की मौत, चारों की उम्र 10 से 12 साल; चोरी-छिपे नहाने पहुंचे थे

भावनगर में हादसा: तालाब में डूबने से दो सगे भाइयों समेत चार बच्चों की मौत, चारों की उम्र 10 से 12 साल; चोरी-छिपे नहाने पहुंचे थे

Spread the love

तालाब के पास कपड़े और चप्पलें मिलने के बाद गोताखोरों ने निकाले शव।

गुजरात में भावनगर जिले के मोटी वावडी गांव के तालाब में डूबने 4 बच्चों की मौत हो गई। इनमें दो लड़के सगे भाई थे। चारों सोमवार की दोपहर तालाब में नहाने पहुंचे थे और इसी दौरान हादसे का शिकार हो गए। देर शाम तक घर न पहुंचने पर चारों की तलाश की गई। शाम को चारों के कपड़े और चप्पलें तालाब के पास मिलीं।

गोताखोरों की मदद से बच्चों की तलाश की गई तो दो बच्चों के शव निकाले गए। इसके बाद रात के करीब 9 बजे तक अन्य दो बच्चों के शव मिले। पुलिस ने मामला दर्ज कर शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। हादसे के बाद पूरे गांव में मातम पसर गया है।

जिस तालाब में बच्चे डूबे, वह इसी साल नहर से भरा है।

जिस तालाब में बच्चे डूबे, वह इसी साल नहर से भरा है।

कृत्रिम तालाब में नहर से भरा गया था पानी
मोटी वावडी गांव से मिली जानकारी के अनुसार पिछले साल ही यह कृत्रिम तालाब बनाया गया था। इसके बाद नहर द्वारा इसे आधा भरा जा चुका था। शेष तालाब के इस बारिश में भर जाने की आशा है। मृतक चारों बच्चे घर से बिना बताए ही तालाब नहाने पहुंच गए थे। दोपहर में तेज गर्मी के चलते लोग अपने-अपने घरों में थे, जिससे किसी की इन पर नजर नहीं पड़ी।

चारों की उम्र 10 से 12 वर्ष थी
मोटी वावडी गांव में ही रहने वाले मृतक चारों बच्चों की उम्र 10 से 12 वर्ष के बीच थी। इनमें जयेश काकडिया (10), मोंटू हिम्मतभाई भेंडा (11), तरुण शंभूभाई खोखाणी (11) और मित शंभूभाई खोखाणी (12) शामिल हैं। तरुण और मित सगे भाई थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *