कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी: 3 महीने में देश में 50 मॉड्यूलर हॉस्पिटल बनाए जाएंगे, इनमें ICU और ऑक्सीजन का इंतजाम होगा

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी: 3 महीने में देश में 50 मॉड्यूलर हॉस्पिटल बनाए जाएंगे, इनमें ICU और ऑक्सीजन का इंतजाम होगा

Spread the love

कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए केंद्र ने हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को तुरंत मजबूती देना वाला प्लान बनाया है। केंद्र की योजना है कि अगले 3 महीने में देशभर में 50 मॉड्यूलर हॉस्पिटल बनाए जाएं, जिनमें ICU बेड्स के साथ ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था हो। दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की सप्लाई की सबसे बड़ी समस्या थी। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, ये मॉड्यूलर हॉस्पिटल मौजूदा अस्पतालों के करीब ही बनाए जाएंगे। इसके जरिए हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर का विस्तार किया जाएगा।

खास बात है कि 3 करोड़ की लागत से बनने वाले इस तरह के अस्पताल 3 हफ्तों के कम समय में तैयार किए जा सकेंगे। इनमें ICU, ऑक्सीजन सपोर्ट और दूसरे लाइफ सपोर्ट सिस्टम की सुविधा होगी। इन मॉड्यूलर हॉस्पिटलों की उम्र कम से कम 25 साल तक होती है। आपदा के समय इन अस्पतालों को एक हफ्ते में शिफ्ट किया जा सकता है।

मॉड्यूलर हॉस्पिटल की ये खासियत होंगी

  • 100 बेड वाला अस्पताल होगा।
  • ICU के लिए डेडिकेटेड जोन होगा।
  • ऐसे सरकारी अस्पताल जहां इलेक्ट्रिसिटी, ऑक्सीजन और पानी की व्यवस्था होगी, वहां इन्हें बनाया जाएगा।
  • एक अस्पताल में 3 करोड़ का खर्च होगा और 3 हफ्तों में ये काम करने लगेंगे।

छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों पर फोकस
रिपोर्ट के मुताबिक, ये प्रोजेक्ट प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन ने शुरू किया है। अभी इसे सरकारी अस्पतालों में ही लागू किया जाएगा। ये अस्पताल खासतौर पर छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों में हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी को पूरा करेंगे।

प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार दफ्तर की अदिति लेले ने बताया कि हम राज्यों से लगातार संपर्क में हैं, जहां ऐसे अस्पतालों की जरूरत है। खासतौर पर वो राज्य जहां कोविड के केस लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। इसमें हमने कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सबिलिटी के तहत अन्य पार्टनर्स से भी संपर्क किया है, जो इस प्रोजेक्ट में हमारी मदद कर सकते हैं।

इन शहरों में अस्पताल बनेंगे
इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ के बिलासपुर, महाराष्ट्र के पुणे, जालना, पंजाब के मोहाली में ये अस्पताल बनाए जाएंगे। इसके अलावा छत्तीसगढ़ के रायपुर में ऐसा 20 बिस्तरों वाला अस्पताल बनेगा। कर्नाटक के बेंगलुरु में पहले चरण में 20, 50 और 100 बिस्तर वाले ऐसे बेड बनाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *