20 लाख जुर्माने के बाद जूही का वीडियो: एक्ट्रेस बोलीं- हम 5G के खिलाफ कभी नहीं थे, बस ये चाहते थे कि साबित कर दो ये सबके लिए सेफ है

20 लाख जुर्माने के बाद जूही का वीडियो: एक्ट्रेस बोलीं- हम 5G के खिलाफ कभी नहीं थे, बस ये चाहते थे कि साबित कर दो ये सबके लिए सेफ है

Spread the love

5G पर पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने जूही चावला की याचिका खारिज कर दी, फिर उन पर 20 लाख का जुर्माना भी लगाया था। इसके बाद जूही ने इस मामले पर कुछ नहीं कहा था। अब एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वे एक बार फिर अपनी बात कुछ उदाहरणों के साथ समझा रही हैं कि आखिर उनकी चिंता हकीकत में क्या थी।

जूही ने जाहिर की ये चिंताएं
वीडियो में जूही कह रही हैं- पिछले दिनों में इतना शोर हो गया कि मैं तो अपने आपको ही सुन नहीं पाई इसमें बहुत महत्वपूर्ण संदेश शायद खो गया। वो था कि हम 5G के खिलाफ नहीं हैं। बल्कि हम इसका स्वागत करते हैं, आप प्लीज जरूर लेकर आईए। हम पूछ रहे हैं कि जो अथॉरिटी है वह यह सर्टिफाइ कर दे कि यह सेफ है। हम सिर्फ ये कह रहे हैं कि हमारा ये जो डर है ये निकल जाए, हम सब लोग आराम से जाकर सो जाएं। बता दीजिए ये बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों, अजन्मे बच्चों और प्रकृति के लिए सेफ है। हम बस इतना ही पूछ रहे हैं।

यह था याचिका से जुड़ा पूरा मामला
जूही चावला ने पिछले महीने 5G टेक्नोलॉजी के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी, लेकिन कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए कहा था- ये याचिका कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग है और ऐसा लगता है कि इसे पब्लिसिटी के लिए दाखिल किया गया था। कोर्ट ने जूही पर 20 लाख का जुर्माना भी लगाया था। इसके पहले इसी केस की एक सुनवाई खासी चर्चा में रही, जब एक आदमी सुनवाई के दौरान जूही की फिल्मों के गाने गाने लगा था।

याचिका में जूही ने क्या कहा था?
जूही चावला ने 5G टेक्नोलॉजी लागू किए जाने से पहले इंसानों और पशु-पक्षियों पर इसके असर की जांच करने की अपील दिल्ली हाईकोर्ट से की थी। जूही ने अदालत से मांग की थी कि 5G टेक्नोलॉजी के इम्प्लीमेंटेशन से पहले इसे जुड़ी तमाम स्टडीज को गौर से पढ़ा जाए। खासतौर पर रेडिएशन के प्रभाव की जांच हो। साथ ही यह भी साफ किया जाए कि इस टेक्नोलॉजी से देश की मौजूदा और आने वाली पीढ़ी को किसी तरह का नुकसान तो नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *