नितिन गडकरी की जुबान फिसली: केंद्रीय मंत्री बोले- मुझे बहुत खुशी है कि कोरोना से देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण जान गंवानी पड़ी

नितिन गडकरी की जुबान फिसली: केंद्रीय मंत्री बोले- मुझे बहुत खुशी है कि कोरोना से देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण जान गंवानी पड़ी

Spread the love

प्रयागराज में बुधवार को सरस्वती हाईटेक सिटी में ऑक्सीजन प्लांट के उद्घाटन के वर्चुअल कार्यक्रम में गडकरी बोल रहे थे। इसमें यूपी के डिप्टी सीएम केशव मौर्य भी शामिल हुए।

  • प्रयागराज में ऑक्सीजन प्लांट के वर्चुअल उद्घाटन में बोल रहे थे केंद्रीय मंत्री

प्रयागराज में बुधवार को सरस्वती हाईटेक सिटी में ऑक्सीजन प्लांट के उद्घाटन का वर्चुअल कार्यक्रम था। इसमें केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी शामिल थे। इस दौरान बोलते हुए उनकी जुबान फिसल गई। गडकरी बोले- ‘सबसे पहले मुझे बहुत खुशी है कि कोविड ने इस समय हमारे देश में अनेक लोगों को ऑक्सीजन की कमी के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी।’

इसके बाद गड़करी तुरंत संभलते हुए कहा कि हवा से ऑक्सीजन बनाने की तकनीक है। कोविड में अनुभव हुआ कि किसी को तीन से चार लीटर तो किसी को 3 मिनट में 20 लीटर ऑक्सीजन की जरूरत होती है। ऐसे में सभी जिलों को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होना होगा। हमने अभी जियाेलाइट 350 टन रूस से इंपोर्ट किया है। आगे हम इस मामले में आत्मनिर्भर हों, इसका प्रयास करना होगा। हमारे रोड कंस्ट्रक्शन कांट्रैक्टर ने नैनी में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की सोची, यह समाज के लिए हितकारी है।

कार्यक्रम में यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, सिद्धार्थनाथ सिंह और महेंद्र नाथ सिंह भी उपस्थित रहे।

  • गड़करी के भाषण की तीन अहम बातें-

50 बेड के अस्पताल में मेंडेटरी होगा ऑक्सीजन प्लांट

  1. गडकरी ने कहा- मैंने केशव प्रसाद (डिप्टी सीएम) , सिद्धार्थनाथ सिंह(योगी सरकार में मंत्री) व महेंद्र सिंह से कहा कि प्रदेश में जितने भी 50 बेड वाले अस्पताल हैं, उनमें ऑक्सीजन प्लांट अनिवार्य कर दिया जाना चाहिए। सरकार इस पर जल्द नियम लाए।।
  2. अब आक्सीजन कंसेंट्रेटर देश में बनने लगे हैं। चार लोगों को एक ही सिलेंडर से ऑक्सीजन मिल जाती है। हमने महाराष्ट्र में बहुत सस्ते में इसे खरीदा है। इसके लिए ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का बैंक भी खोला है। इससे किसी की जान नहीं जाएगी। बाइपैक भी 2500 खरीदा है।
  3. अहम बात है कि रेमेडिसिविर की कमी थी, अब हम आत्मनिर्भर हैं। यूपी को चाहिए तो हमसे ले सकते हैं। 1250 रुपए में ब्लैंक फंगस का इंजेक्शन भी तैयार करवाया है। यूपी को हम दे सकते हैं।
सरस्वती हाईटेक सिटी में प्लांट का उद्घाटन करते मंत्री केशव प्रसाद मौर्य और सिद्धार्थ नाथ सिंह।

सरस्वती हाईटेक सिटी में प्लांट का उद्घाटन करते मंत्री केशव प्रसाद मौर्य और सिद्धार्थ नाथ सिंह।

तीसरी और चौथी वेब की तैयारी अभी से करें
गड़करी ने कहा कि हमें तीसरी और चौथी वेब की तैयारी अभी से करनी होगी। ” थिंक फाॅर द बेस्ट, प्रिपेयर फार द वर्स्ट” का मूलमंत्र दिया। गड़करी ने महाराष्ट्र का उदाहरण दिया कि किस तरह उन्होंने बड़े कॉम्प्लेक्स व खाली जगह में वैक्सीनेशन शुरू कराया। वरिष्ठ नागरिकों को गाड़ी में ही वैक्सीन लगवाने और उन्हें पानी की बोतल और फूल देने की परंपरा शुरू की। इससे लोगों में उत्साह है।

राजनीति, धर्मनीति और लोकनीति की नई परिभाषा
गड़करी ने दरिद्र नारायण की सेवा को ही जीवन का मूल उद्देश्य बताया और राजनीति, धर्मनीति और लोकनीति की नई परिभाषा दी। दलितों, दरिद्र नारायण को भगवान मानकर सेवा करते रहें। पंडित दीन दयाल उपाध्याय का भी यही ध्येय था।

हमने काम किया फोटो खिंचवाना बंद कर दिया
कोविड में हमने सिर्फ काम किया फोटो प्रचार के लिए खिंचवाना बंद कर दिया। महाराष्ट्र में केवल 90 करोड़ का साहित्य बांट दिया। 500 वेंटिलेटर बांटे वो भी फ्री पर हमारी कहीं फोटो नहीं आई। हमें जाति, पंत और धर्म से के ऊपर उठकर काम करना है।

आक्सीजन प्लांट से क्या सहूलियत मिलेगी-

  • प्राभव्य इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड ने ये प्लांट करीब 16 करोड़ रुपए में लगाया है।
  • शिलान्यास के बाद 90 दिन में ऑक्सीजन उत्पादन शुरू होगा।
  • रोजाना 1100 से 1500 सिलेंडर प्रतिदिन ऑक्सीजन उत्पादन का लक्ष्य है।
  • 350 घन मीटर प्रति घंटा तक ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।
  • इस प्लांट से इलाहाबाद के बेली, कॉल्विन और डफरिन अस्पताल को आजीवन मुफ्त ऑक्सीजन दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *