UP के ये मंत्री मोदी-योगी की बात भी नहीं मानते: मंत्री महाना ने अब सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को ठेंगा दिखाया; 4 दिन पहले बगैर मास्क के पुलिस अफसरों के साथ मीटिंग की थी

UP के ये मंत्री मोदी-योगी की बात भी नहीं मानते: मंत्री महाना ने अब सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को ठेंगा दिखाया; 4 दिन पहले बगैर मास्क के पुलिस अफसरों के साथ मीटिंग की थी

Spread the love

फोटो शनिवार की है। कानपुर में यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री गरीबों को राशन वितरण करने पहुंचे। यहां वह कोविड-19 के नियमों को भूल गए।

उत्तर प्रदेश सरकार में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना 5 दिन के अंदर दूसरी बार कोविड-19 का प्रोटोकॉल तोड़ते दिखे। इस बार वह भीड़ में गरीबों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राशन बांटते नजर आए। भीड़ भी ऐसी कि सोशल डिस्टेंसिंग भी शर्मा जाए। इसके पहले मंत्री जी ने 25 मई को कानून के सामने ही कोविड-19 के कानून को तोड़ा था। बगैर मास्क पहने कानपुर के पुलिस अफसरों के साथ मीटिंग की थी। इसके बाद बिना संकोच किए फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर कर दी। विवाद बढ़ा तब पुलिस कमिश्नर उनपर कार्रवाई करने की बजाय उनके बचाव में खड़े हो गए थे। बोले- मंत्री जी पानी पीने के लिए मास्क हटाए थे और तभी फोटो क्लिक हो गई।

मंत्री बोले- राशन मुफ्त मिल रहा है, ये बात ज्यादा इंपॉर्टेंट है
सतीश महाना से जब सोशल डिस्टेंसिंग नियमों को तोड़ने पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, ‘इतना सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो सकता भइया। राशन वितरण में तो भीड़ रहेगी ही। हमारा प्रयास होता है कि सोशल डिस्टेंसिंग बने… फिर भी गांव के लोग हैं। राशन लेने के लिए आए हैं। कोशिश की जाती ही पालन किया जाए। बाकी सब ठीक है राशन मुफ्त मिल रहा यह बात ज्यादा इंपॉर्टेंट है। कितने लोग कोविड में मर गए उनके यहां राशन जाना जरूरी है। मैं खुद अपनी सुरक्षा के लिए ज्यादा ज्यादा प्रयास करता हूं कि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे।’

पुलिस कमिश्नर- इस बार भी डर गए
लगातार मंत्री सतीश महाना कोविड-19 नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं और कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण हैं कि कार्रवाई करने से भी डर रहे। 25 मई को जब महाना बगैर मास्क के मीटिंग कर रहे थे तो वहां असीम अरुण भी मौजूद थे, लेकिन अलग तरह से उन्होंने बचाव कर लिया था। इस बार जब कोई जवाब नहीं सूझा तो बोले, ‘मुझे इस बात की जानकारी नहीं है कि मंत्री जी ने कहां पर राशन वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया। लेकिन फिर भी फोटो भेजिए, मैं इसकी जांच करता हूं।’ दैनिक भास्कर रिपोर्टर ने जब कमिश्नर को मंत्री की फोटो भेजी तो इस मामले में उन्होंने कुछ बोलने से ही इंकार कर दिया।

मंत्री महाना से भास्कर के 4 सवाल
1.
अगर गांव और कार्यक्रमों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना संभव नहीं है तो आपकी सरकार ने नियम क्यों बनाया?
2. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार क्यों लोगों को इन नियमों का पालन करने के लिए बोल रहे हैं?
3. क्या आप पहले से इसके लिए कोई व्यवस्था नहीं बना सकते थे, जिससे नियमों का पालन भी हो जाए और लोग भी सुरक्षित रहें?
4. अगर आपके कार्यक्रम में जाने से किसी को कोरोना हो जाता है तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?

पुलिस कमिश्नर से भास्कर के 3 सवाल
1.
संविधान में कानून और नियम सबके लिए बराबर है। फिर आप मंत्री की लापरवाही को क्यों छिपा रहे हैं?
2. आपके अफसर लगातार लोगों को नियमों का पालन कराने के लिए सख्त सजा दे रहे हैं। करोड़ों का चालान कर चुके, तो मंत्री पर कार्रवाई करने से क्यों डर रहे हैं ?
3. क्या आपके लिए मंत्री कानून से भी ऊपर हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *