मॉनसून आने वाला है: दो तूफान गुजरने के दो दिन बाद आएगा मॉनसून, समय से दो दिन पहले 31 मई को केरल पहुंचेगा

मॉनसून आने वाला है: दो तूफान गुजरने के दो दिन बाद आएगा मॉनसून, समय से दो दिन पहले 31 मई को केरल पहुंचेगा

Spread the love

दो चक्रवाती तूफान ताऊ ते और यास गुजरने के बाद अब मॉनसून का इंतजार है। मॉनसून की उत्तरी सीमा कोमोरिन सागर (कन्याकुमारी के पास) तक पहुंच गई है। मौसम विभाग का अनुमान है कि यह अगले 2 से 3 दिन में केरल के तट पर दस्तक दे देगा। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव ने कहा है कि मॉनसून 31 मई को केरल के तट पर पहुंच जाएगा।

केरल में मॉनसून के दस्तक देने की सामान्य तारीख वैसे एक जून है, लेकिन मौसम विभाग ने इसके 31 मई को ही दस्तक देने की भविष्यवाणी करते हुए 4 दिन प्लस-माइनस होने की संभावना भी जताई थी।

अभी सामान्य गति से चल रहा है मॉनसून
निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने मॉनसून के दस्तक देने का दो दिन आगे-पीछे की गुंजाइश के साथ 30 मई का अनुमान लगाया था। मॉनसून अपनी सामान्य गति से आगे बढ़ रहा है। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में अपनी तय तारीख 21 मई को दस्तक देने के बाद यह लगातार उत्तर-पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ रहा है। यह 24 मई को श्रीलंका के दक्षिणी तटों तक पहुंच चुका था और तीन दिन में श्रीलंका के उत्तरी सिरे के करीब पहुंच चुका है।

गुरुवार को मॉनसून मालदीव को भी पार कर चुका है। मॉनसून की उत्तरी सीमा केरल के तट से अभी करीब 200 किलोमीटर दूर है। ताऊ ते तूफान के गुजरने के दौरान और उसके बाद भी केरल में भारी बारिश हुई है। इस हफ्ते की शुरुआत से ही केरल के तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही थी लेकिन गुरुवार से इसमें कमी आने लगी है।

बंगाल की खाड़ी में आए यास तूफान के चलते भी मॉनसून के जल्द पहुंचने यानी 27-29 मई तक ही आने की संभावना जताई जा रही थी। लेकिन अब 30 मई से एक जून के बीच ही मॉनसून के दस्तक देने के आसार हैं। मौसम विभाग मॉनसून की प्रगति पर नजर बनाए हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *