ब्लैक फंगस का कहर: सरकारी अस्पतालों में 4 की मौत, अब तक 26 ने गंवाई जान, 170 की हुई सर्जरी

ब्लैक फंगस का कहर: सरकारी अस्पतालों में 4 की मौत, अब तक 26 ने गंवाई जान, 170 की हुई सर्जरी

Spread the love

अब तक कोरोना के 139954 मामले आ चुके हैं दूसरी ओर शहर और ग्रामीण में दो-दो मरीजों की मौत हो गई।

  • अनुमान- कोरोना घटा तो ब्लैक फंगस भी कम होगा

ब्लैक फंगस की बीमारी रुकने का नाम नहीं ले रही है। गुरुवार काे जहां सिविल और स्मीमेर में चार नए मरीज आए ताे वहीं 4 मरीजाें की माैत भी हाे गई। अब तक कुल 26 मरीजों की जान जा चुकी है। इसमें सिविल अस्पताल में 16 और स्मीमेर में 10 मरीजों की जान गई है।

गुरुवार को सिविल अस्पताल में 10 मरीजों का ऑपरेशन किया गया, जबकि स्मीमेर में चार का हुआ। अब तक दोनों अस्पतालों में 170 मरीजों का ऑपरेशन हो चुका है। सिविल के ईएनटी सर्जन डॉक्टर आनंद चौधरी ने बताया कि हम पहले दो से तीन ऑपरेशन करते थे, लेकिन अब 10 से 15 सर्जरी कर रहे हैं।

इनमें वह मरीज भी शामिल हैं जिनका पहले निजी अस्पतालों में साइनस का ऑपरेशन हो चुका है। कई मरीजों का दोबारा ऑपरेशन कर रहे हैं फिलहाल लेप्रोस्कॉपी से हमारे यहां ऑपरेशन हो रहा है। इसके लिए एनेस्थीसिया के डॉक्टरों का अहम रोल है।

मिकोरमाइकोसिस के लिए डॉक्टरों की टीम का दौरा

मिकोरमाइकोसिस को लेकर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा एक समिति का गठन किया गया है। ताकि मरीजों पर ध्यान दिया जाएगा। समिति में 11 विशेषज्ञ डॉक्टरों को शामिल किया गया है। इसमें डॉ. अश्विन वसावा, डॉ. आनंद चौधरी, अहमदाबाद से डॉ. कमलेश उपाध्याय, डॉ. गिरीश परमार, डॉ. बेला प्रजापति, डॉ. हंसा ठक्कर, जामनगर से डॉ. बीआई गोसाईं, राजकोट की डॉ. सेजल मिनी, डॉ. नीति शेठ, भावनगर से डॉ. सुशील झा, डॉ. निलेश वी पारेख शामिल हैं।

शहर में कोरोना के 208 और ग्रामीण में आए 115 मरीज

शहर में कोरोना के 208 और ग्रामीण में 115 यानी 323 नए मामले सामने आए हैं। अब तक कोरोना के 139954 मामले आ चुके हैं दूसरी ओर शहर और ग्रामीण में दो-दो मरीजों की मौत हो गई। मौत का आंकड़ा अब 2058 तक पहुंच चुका है, जबकि शहर के 492 और ग्रामीण के 139 यानी 631 मरीज डिस्चार्ज हुए।

अब तक 133509 मरीज ठीक हो चुके हैं। फिलहाल 4387 एक्टिव मरीजों का इलाज चल रहा है। सिविल में इस समय 10 मरीज वेंटिलेटर पर 50 मरीज बाइपेप और 101 मरीज ऑक्सीजन पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *