8 साल के हुए अबराम खान: 47 साल की उम्र में अबराम के पिता बने थे शाहरुख खान, जानिए बेटे के जन्म के लिए क्यों चुनी थी सरोगेसी?

8 साल के हुए अबराम खान: 47 साल की उम्र में अबराम के पिता बने थे शाहरुख खान, जानिए बेटे के जन्म के लिए क्यों चुनी थी सरोगेसी?

Spread the love

शाहरुख खान के छोटे बेटे अबराम खान 8 साल के हो गए हैं। अबराम का जन्म 27 मई, 2013 को सरोगेसी के जरिए हुआ था। क्या आप जानते हैं कि पहले से ही दो बच्चों के पिता होने के बावजूद शाहरुख के मन में तीसरे बच्चे का ख्याल क्यों आया था? इसका खुलासा खुद शाहरुख ने 2013 में अबराम के जन्म के बाद एक इंटरव्यू के दौरान किया था।

क्या कहा था शाहरुख खान ने?

शाहरुख ने इंटरव्यू में कहा था, “मेरा बेटा 16 (अब 23) साल है और बेटी 13 (अब 21) की है। लेकिन पिछले चार-पांच साल से वे घर से बाहर ज्यादा रहने लगे, स्कूल जाने लगे। पहले वे बंदरों की तरह, बच्चों की तरह चिपके रहते थे और मैं उनके साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिता पाता था। लेकिन पिछले चार-पांच साल से वातावरण ऐसा है कि बच्चे अपने दोस्तों के साथ अपने कमरों में रहने लगे हैं। हमें कभी-कभी यह भी पता नहीं चलता कि वे घर पर हैं या नहीं। हम बच्चों के साथ बिताए वक्त को याद करने लगे। आर्यन पढ़ाई के लिए लंदन चला गया और बेटी भी विदेश में है। हम खुले विचारों के पेरेंट्स हैं। बच्चे जो चाहें, वो कर सकते हैं। लेकिन हम बच्चों को मिस करने लगे थे।”

इसलिए शाहरुख ने सरोगेसी को चुना था

कहा जाता है कि अबराम के जन्म के समय गौरी भी 40 की उम्र पर पार कर चुकी थीं और इस उम्र में बेबी कंसीव करना खतरनाक हो सकता था। इसलिए शाहरुख ने बेटे के जन्म के लिए सरोगेसी का सहारा लिया। अबराम के जन्म के वक्त शाहरुख की उम्र 47 साल थी।

आर्यन के जन्म के पहले गौरी के मिसकैरेज भी हुए

शाहरुख ने एक इंटरव्यू में अपने बच्चों के बारे में भी बात की थी। उन्होंने कहा, “मेरे तीन बच्चे हैं और सभी की अलग-अलग कहानी है। इस वजह से सभी स्पेशल हैं। आर्यन के जन्म के पहले गौरी को कुछ मिसकैरेज हुए। जब वह पैदा हुआ, तब भी कुछ दिन बड़ी मुश्किल भरे थे। सुहाना का जन्म हमारे लिए एक्साइटिंग था, क्योंकि हम दोनों ही पहले बच्चे के रूप में लड़की चाहते थे। लेकिन वह दूसरे नंबर पर हुई। गौरी चाहती थी कि बच्चे मेरी तरह दिखें। इसलिए डिलिवरी के बाद वह मुझसे पूछती थी कि क्या वह तुम्हारी तरह दिखता/दिखती है। सालों बाद हमें लगा कि तीसरा बच्चा भी होना चाहिए तो हमने अबराम की प्लानिंग की।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *